दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Wednesday, November 14 2018
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
चंद्र वास और फल पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

Image

                                                   

                                                                चंद्र वास और फल

                          मेष च सिंहे धनुः पुर्व भागे,वृषे च कन्या मकरे च याम्ये ।

                    युग्मे तुलायां च धटे प्रतीच्यां , कर्कालि मीने दिशि चौत्तरायाम् ।।

                                                                              अर्थात

मेष सिंह तथा धनु राशि मे चंद्रमा हो तो पुर्व दिशा मे, वृष,कन्या और मकर राशि मे चंद्रमा हो तो दक्षिण दिशा मे, मिथुन तुला एवम् कुंभ राशि मे चंद्रमा हो तो पश्चिम मे, कर्क वृश्चिक मीन राशि का चंद्र हो तो चंद्रमा उत्तर दिशा मे निवास करता है।                             

                   सन्मुखे च अर्थ लाभाय, पृष्ठे चंद्रे धनक्षयः |

                  दक्षिणे सुख सम्पति , वामें तु मरणं ध्रुवम् ||

                                                         अर्थात

यात्रा में चंद्रमा संमुख हो तो धन का लाभ ,पीछे हो तो धन का विनाश,

दाये हो तो सुख सम्पति और  बाये  चँद्र प्राणो का विनाश करता है।

 
< पिछला   अगला >
© 2018 दिनमान लघु पंचांग