मुख्य पृष्ट arrow चौघडियाँ
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Sunday, December 10 2017
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
चौघडियाँ पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

 

Image   

चौघडियाँ.............

                                  साधारणतयाः चौघडिया ४ घडी यानि १ घंटा ३६ मिनट का माना गया है। सुक्ष्म में दिनमान अथार्त सूर्य उदय से सूर्यास्त के होने वाले बीच के समय को ८ से भाग देने से जो समय निकलता हैं, उतना समय का एक चौघडीया का मान निकलता है। उदेग्न, चंचल , अमृत, लाभ , काल़ , शुभ , रोग इनके नाम है। लाभअमृतशुभ आदि का चौघडिया कार्य सिद्धी के लिये उत्तम माना गया है। |

 

 

 

दिन का चौघडियाँ

 से  तक  रवि  सोम  मंगल  बुध  गुरु शुक्र  शनि 
 ६:००  ७:३०  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ  शुभ   चर  काल
 ७:३०  ९:००  चर  काल  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ  शुभ
 ९:००  १०:३०  लाभ  शुभ  चर  काल  उद्वेग  अमृत  रोग
 १०:३०  १२:००  अमृत  रोग  लाभ  शुभ  चर  काल  उद्वेग
 १२:००  १:३०  काल  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ  शुभ  चर
 १:३०  ३:००  शुभ  चर  काल  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ
 ३:००  ४:३०  रोग  लाभ  शुभ  चर  काल  उद्वेग  अमृत
 ४:३०   ६:००  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ  शुभ  चर  काल


 


 

 

 

 

 

    

 

 

रात का चौघडियाँ

 से  तक  रवि  सोम  मंगल  बुध  गुरु शुक्र  शनि 
 ६:००  ७:३०  शुभ  चर  काल  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ
 ७:३०  ९:००  अमृत  रोग  लाभ  शुभ  चर  काल  उद्वेग
 ९:००  १०:३०  चर  काल  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ  शुभ
 १०:३०  १२:००  रोग  लाभ  शुभ  चर  काल  उद्वेग  अमृत
 १२:००  १:३०  काल  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ  शुभ  चर
 १:३०  ३:००  लाभ  शुभ  चर  काल  उद्वेग  अमृत  रोग
 ३:००  ४:३०  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ  शुभ  चर  काल
 ४:३०   ६:००  शुभ  चर  काल  उद्वेग  अमृत  रोग  लाभ
 

 
© 2017 दिनमान लघु पंचांग