दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Wednesday, August 23 2017
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
धनु. पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

Image धनु...........

धनु राशि में ये, यो, ध, धा, धी, धू, धे, फ, भा, भी, भू, भे आते हैं |  धनु का स्वामी गुरु को माना जाता हैं | गुरु के कारण ही अपने हर कार्य को निष्ठापूर्ण निभाते हैं | गुरुवार धनु राशि का शुभ दिन होता हैं | ३ अंक इनका काफी शुभ माना गाया हैं | गुरु के कारण ही इनको पीला रंग शुभ रहता है | भाग्याशाली रत्न पुखराज होता हैं | पुखराज को गुरुवार के दिन सोने या तांबे में पहनना चाहीये |

Image पुखराज......

पुखराज पीले रंग का होता हैं| इसे गुरुवार को १९ बार ॐ वृं वृहस्पतयःनम मंत्र बोलकर सोने या तांबे की अंगुठी में पहनना चाहिये | इसको पहनने से वंशवृद्धी होते हुये देख सकते हैंये रत्न, धन ,दौलत ,प्रसिद्धी ,सफलता, दिर्घआयु , राजकार्य में सफलता देता हैं | ये चिकना चमकवाला , कांतिवाला, निंबू के रंगवाला, केसर या हल्दी के रंग के समान होता हैं | पुखराज की विशेषता ये हैं कि कसौती पर घिसने पर ये और चमकता हैं | उच्च कोटी के पुखराज को मंत्र के साथ स्वर्ण अंगुठी में पुष्य पुनर्वसु, विशाखा, पूर्वभाद्रपद नक्षत्रों में तर्जनी उंगली में पहनना चाहीये | पीत वस्त्र ,पीला धान्य, स्वर्ण का दान देना चाहीये  | जिस कन्या के विवाह में बाधा पड रही हैं, उसे शीघ् उचित वर मिलता हैं | घर का क्लेश दूर होता हैं और पति पत्नी का प्रेम परस्पर बढता हैं | मीन, धनू, वृश्चिक, कर्क, मेष राशी को पुखराज फलदायी होता हैं |

 
< पिछला   अगला >
सुविचार
ऐसी वाणी बोलिये, मन का आपा खोय|औरन को शीतल करें, आप हीं शीतल होयें ||
 
© 2017 दिनमान लघु पंचांग