दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Monday, October 23 2017
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
मिथुन पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

Image मिथुन......

मिथुन राशि के अक्षर क, का,की, कू, के, को, कौ, छ,ह,हा, छा से शुरु होते हैं |  मिथुन राशि का स्वामी बुध होता हैं चूकी बूध बुद्धी का कारक होता हैं अतः इस राशि के जातक ज्यादातर बुद्धिमत्ता में प्रमुख होते हैं | मिथुन राशि का शुभदायक रत्न मुंगा हैं | मिथुन राशि का फलदायक रंग हरा होता हैं | शुभ अंक ५ हैं|

Image

मूंगा........

मंगल ग्रह का यह रत्न अधिकांश लाल, सिंदूरी, हिंगुली रंग, या गेरुँआ वर्ण का होता हैं | असल मूंगा गोल, चिकनाकांतीयुक्त  तथा भारी होता हैं असली मूंगा की पहचान के लिये उसे दूध में डाला जाये तो दूध में लालिमा दिखाई देने लगते हैं | खन्डित,  छिद्रयुक्त, सफेद या कालेधब्बेवाले  दूषित मूंगा को पहनने से लाभ की जगह हानि होने की संभावना रहती हैं | उच्चकोटी का मूंगा मंगलवार को मृगशिरा, चित्रा, धनिष्ठा आदि नक्षत्रों में स्वर्ण या तांबे की अंगुठी बनवाकर , मंगल के मंत्रों से अभिमंत्रित करके अनामिका अंगुली में धारण करना चाहिये | श्रेष्ठ मूंगा धारण करने से  भूत प्रेत बाधा से मुक्ती मिलती हैं  | भूमिसुख, भातृसुख मिलता हैं |  अल्परक्तचाप वालों को परम उपयोगी हैं स्त्रियों को सौभाग्य देने वाला हैं मूंगा के साथ नीलम , गोमेदलहसुनियाँ  नहीं पहनना चाहियें | जिन जातक के ६, , १२ वें स्थान में मंगल हो ऐसे जातक को भी मूंगा धारण  नहीं करना चाहीयें | मेषकर्कसिंह, तुला, वृश्चिकमकरकुंभमीन राशीवालों को मूंगा लाभदायक रहता हैं |

 
< पिछला   अगला >
सुविचार

जब तू आया जगत में, लोग हँसे तू रोये| ऐसी करनी न करी, पाछे हँसे सब कोय ||

 
© 2017 दिनमान लघु पंचांग