मुख्य पृष्ट arrow भजन संग्रह arrow मैं नही माखन खायो
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Sunday, December 09 2018
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
मैं नही माखन खायो पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

 Image

मैया मोरी, मैं नही माखन खायो

भोर भयो गैयन के पाछे, तुने मधुवन मोहि पठायो ।

चार पहर वंशीवट भटक्यो, सांझ परे घर आयो ॥

मैया मोरी .....
मैं बालक बहियन को छोटो, छींको किहि विधि पायो .

ग्वाल-बाल सब बैर परे हैं, बरबस मुख लपटायो ..

मैया मोरी .......

तू जननी मन की अति भोली, इनके कहे पतियायो .

यह ले अपनी लकुटि कम्बलिया, तुने बहुतहि नाच नचायो .

मैया मोरी .......

 मैया जिय तेरे  कछु भेद उपजिहै ,तुने मोहे  जानि परायो जायो ..

"सूरदास" तब हँसी यशोदा, लै उर-कंठ लगायो ..

मैया मोरी ..........

 
< पिछला   अगला >
© 2018 दिनमान लघु पंचांग