मुख्य पृष्ट arrow भजन संग्रह arrow जय जय नारायण नारायण हरी हरी ,
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Tuesday, August 22 2017
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
जय जय नारायण नारायण हरी हरी , पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

                       Image

जय  जय  नारायण नारायण  हरी  हरी ,
स्वामी  नारायण   नारायण  हरी  हरी

तेरी  लीला  सबसे  न्यारी  न्यारी  हरी  हरी
तेरी  महिमा, तेरी  महिमा,
तेरी  महिमा  सबसे  प्यारी प्यारी  हरी  हरी

जय  जय  नारायणा  नारायणा  हरी  हरी
स्वामी  नारायण  नारायण  हरी  हरी

अलख   निरंजन  भाव  भय  भंजन  जन्म  निरंजन  दाता
हमे  शरण  दे  अपने  चरण  में  कर  निर्भय  जग त्राता
तुने लाखों  की  नैया  तारी  तारी  हरी  हरी

प्रभु  के  नाम  का   पारस  जो  छूनले , वो  हो  जाये   सोना
दो  अक्षर का  शब्द   हरी  है  लेकिन  बड़ा  सलोना ,
उसने  संकट  टाली  भारी  भारी  हरी हरी  .


 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 


 
 


 

 


 

 
< पिछला   अगला >
© 2017 दिनमान लघु पंचांग