मुख्य पृष्ट arrow भजन संग्रह arrow भई री मैं तो प्रेम दिवानी
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Tuesday, July 17 2018
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
भई री मैं तो प्रेम दिवानी पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

 

Image

"Play Sound" (Mini-MP3-Player 1.2 ©Ute Jacobi)

भई री मैं तो प्रेम दिवानी , मेरा दरद ना जाने कोय |

घायल की गत घायल जाने , और ना जाने कोय |

जौहर की गत जौहर जाने ,की जिन जौहर होय ॥...भई री मैं तो प्रेम....

सूली उपर सेज हमारी , सोना किस विध होय |

गगन मंसल पर सेज पिया की , मिलना किस विध होय ॥...भई री मैं तो प्रेम...

बन बन डोलू दरद की मारी , वैद्य मिला ना कोय |

मीरा कहे प्रभू पिर मिटेगी , जब वैद्य साँवरिया होय ॥......भई री मैं तो प्रेम.....

 
< पिछला   अगला >
© 2018 दिनमान लघु पंचांग