मुख्य पृष्ट arrow भजन संग्रह arrow है आखँ वो जो श्याम का दर्शन किया करें
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Wednesday, November 14 2018
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
है आखँ वो जो श्याम का दर्शन किया करें पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

Image

"Play Sound" (Mini-MP3-Player 1.2 ©Ute Jacobi)

है आखँ वो जो श्याम का दर्शन किया करें,

है शीश जो प्रभू चरण में वन्दन किया करें |

बेकार वो मुख हैं जो रहे व्यर्थ बातों में ,

मुख वो हैं जो हरिनाम का सुमिरन किया करें |

हीरे मोती से नहीं शोभा हैं हाथ की ,

हैं हाथ जो भगवान का पूजन किया करें |

मर कर भी अमर नाम हैं उस जीव का जग में ,

 प्रभू प्रेम में बलिदान जो जीवन जो जीवन का किया करें |

ऐसी लागी लगन ...मीरा हो गई मगन

वो तो गली गली हरि गुण गाने लगी

ऐसी लागी लगन मीरा हो गई मगन

महलों में पली बनके बनके जोगन चली

मीरा रानी दिवानी कहाने लगी

कोई रोके नहीं , कोई टोके नहीं

, कोई टोके नहीं मीरा गोंविद गोपाल गाने लगी...

बैठी संतों के संग रंगी मोहन के रंग

मीरा प्रेमी प्रियतम को मनाने लगी

ऐसी लागी लगन मीरा हो गई मगन

महलों में पली बनके जोगन चली

ऐसी लागी लगन
...मीरा हो गई मगन

वो तो गली गली हरि गुण गाने लगी

राणा ने विष दिया मानों अमृत पिया

मीरा सागर में सरिता समाने लगी

दुखः लाखों सहे मुख से गोंविद कहे

मीरा गोंविद गोपाल गाने लगी

ऐसी लागी लगन मीरा हो गई मगन

महलों में पली बनके बनके जोगन चली

मीरा रानी दिवानी कहाने लगी

 
< पिछला   अगला >
© 2018 दिनमान लघु पंचांग