मुख्य पृष्ट arrow भजन संग्रह arrow मैली चादर ओढ के कैसे
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Wednesday, November 14 2018
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
मैली चादर ओढ के कैसे पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

Image 

मैली चादर ओढ के कैसे ,द्वार तुम्हारें आंऊ |

 हे पावन परमेश्वर मेरे , मन ही मन शरमाऊ ॥

तुमने मुझको जग में  भेजा ,निर्मल देकर काया |

आकर के संसार में मैनें .इसको दाग लगाया ॥

जन्म जन्म की मैली चादर ,कैसे दाग छुडांऊ..... मैली चादर ओढ के

निर्मल वाणी पाकर तुझसे ,नाम न तेरा गाया |

नैन मूंदकर हे परमेश्वर ,कभी न तुझको ध्याया ॥

मन वीणा की तारें टूटी. अब क्या गीत सुनाऊं..... मैली चादर ओढ के

इन पैरों से चलकर तेरे, मंदिर कभी न आया |

जहाँ जहाँ हो पूजा तेरी , कभी न शीश झुकायां ॥

हे हरिहर मैं हार के आया ,अब क्या हार चढाऊं..... मैली चादर ओढ के

 मैली चादर ओढ के कैसे ,द्वार तुम्हारें आंऊ |

हे पावन परमेश्वर मेरे , मन ही मन शरमाऊ ॥

 
< पिछला
© 2018 दिनमान लघु पंचांग