मुख्य पृष्ट arrow भजन संग्रह arrow आऊँगी आऊँगी मैं अगले बरस फिर आऊँगी
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Monday, October 23 2017
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
आऊँगी आऊँगी मैं अगले बरस फिर आऊँगी पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

                                                                         

 

Image

"Play Sound" (Mini-MP3-Player 1.2 ©Ute Jacobi)

माता ओ माता पहाडोंवाली माता

आऊँगी आऊँगी मैं अगले बरस फिर आऊँगी

लाऊँगी लाऊँगी तेरी लाल चुनरियाँ लाऊँगी.....

तेरी महिमा सुनते हैं तेरी महिमा गाते हैं

आँख में आँसू लाते हैं मोती लेकर जाते हैं |....

पर्वत पे है डेरा ऊँचा मंदिर तेरा

तेरी शरण में आ के जागा जीवन मेरा

जय शेरावाली दी जय मेहरावाली दी...

जय माता रानी की

माता ओ माता पहाडोंवाली माता...

मन में हैं तेरी भक्ती हम जाने तेरी शक्ति

दुखः क्या हैं दुखः की छाया ये हमको छु नहीं सकती

जितनी शक्तिशाली उतनी ही तु भोली

बिन मांगे ही तुने भर दी मेरी झोली

जय ज्योतावाली दी जय लाटा वाली दी ..

जय माता रानी की

आऊँगी आऊँगी मैं अगले बरस फिर आऊँगी

लाऊँगी लाऊँगी तेरी लाल चुनरियाँ लाऊँगी.....

 

तन पूजा की थाली साम्रगी हैं मन की

माँ तेरे चरणों में भेंट है निर्धन की

जय भवँरावाली दी जय छत्रवाली दी

जय माता रानी की

माता ओ माता पहाडोंवाली माता

आऊँगी आऊँगी मैं अगले बरस फिर आऊँगी

लाऊँगी लाऊँगी तेरी लाल चुनरियाँ लाऊँगी.....

तेरी महिमा सुनते हैं तेरी महिमा गाते हैं

आँख में आँसू लाते हैं मोती लेकर जाते हैं |

 
< पिछला   अगला >
© 2017 दिनमान लघु पंचांग