दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Monday, October 23 2017
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
मन तेरा मंदिर पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

                                                                         

 

Image

"Play Sound" (Mini-MP3-Player 1.2 ©Ute Jacobi)

न तेरा मंदिर आखेँ दिया बातीहोटों की थालीयाँ बोल फुल पाती ||

रोम रोम जिव्हा तेरा नाम पुकारती आरती ओ मैया आरती

 ओ ज्योतावाली ऐ माँ तेरी आरती.....

 हे महालक्ष्मी माँ गौरी तु
अपने आप है चारी

तेरी कीमत तु ही जाने तु बुरा भला पहचाने

ये कहते दिन और रातें तेरी लिखी ना जाये बातें

कोइ माने या ना माने हम भक्त तेरे दिवाने ...

तेरे पावँ सारी दुनियाँ पखारती

मन तेरा मंदिर आखेँ दिया बातीहोटों की थालीयाँ  बोल फुल पाती |

रोम रोम जिव्हा तेरा नाम पुकारती आरती ओ मैया आरती ||

ओ ज्योतावाली ऐ माँ तेरी आरती....

हे गुणवती सतवंती हे पद
वती रसवंती

मेरी सुनना ये विंनती मेरा चोला रंग बंसती

हे दुखःभजंन सुखदाती हमे सुख देना दिन रात्री

जो तेरी महिमा गाये मुँह माँगी मुरादे पाये

हर आँख तेरी और निहारती

मन तेरा मंदिर आखेँ दिया बाती,  होटों की थालीयाँ , बोल फुल पाती |

रोम रोम जिव्हा तेरा नाम पुकारती आरती ओ मैया आरती ||

ओ ज्योतावाली ऐ माँ तेरी आरती.....

हे महाकाल महाशक्ती हमे दे दे ऐसी भक्ती

हे जगजननी
महामाया है तु ही धूप और छाया

तू अमर अजर अविनाशी तु अनमिट पू्र्णमासी

सब करके दुर अंधेरे हमे बक्क्षों नये सवेरे

तु तो भक्तों की बिगडी सँवारती

मन तेरा मंदिर आखेँ दिया बातीहोटों की थालीयाँ  बोल फुल पाती ||

रोम रोम जिव्हा तेरा नाम पुकारती आरती ओ मैया आरती

ओ ज्योतावाली ऐ माँ तेरी आरती.....

ओ तेरे पाँव सारी दुनियाँ पखारती

औ लाटा वाली माँ तेरी आरती

हर आँख तेरी और निहारती

औ ज्योतावाली माँ तेरी आरती

औ तु तो भक्तों की बिगडी सँवारती......

 
< पिछला   अगला >
© 2017 दिनमान लघु पंचांग