मुख्य पृष्ट arrow भजन संग्रह arrow श्याम मने चाकर राखो जी
दिनमान लघु पंचांग
मुख्य पृष्टपंचांगचौघडियाँमुहूतॅआरती संग्रहव्रत त्योहारभजन संग्रहराशिफलखोजेंअन्य जानकारीहमें सम्पर्क करें
Saturday, October 21 2017
मुख्य मैन्यु
मुख्य पृष्ट
पंचांग
चौघडियाँ
मुहूतॅ
आरती संग्रह
व्रत त्योहार
भजन संग्रह
राशिफल
खोजें
अन्य जानकारी
हमें सम्पर्क करें
श्याम मने चाकर राखो जी पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल

                                                                         

 

Image

"Play Sound" (Mini-MP3-Player 1.2 ©Ute Jacobi)

श्याम मने चाकर राखो जी |

श्याम मने चाकर राखो जी ||

चाकर रहसूँ नित उठ दरसण पासूँ | |

बिंद्राबन की गलियन में तेरि लीला गासूँ ||

श्याम मने चाकर राखो जी

चाकरी में दरसण पाऊँ,  सुमिरण पाऊँ खरची |

भाव भगति जागिर पाऊँतीनूँ बाता सरसी ||

श्याम मने चाकर राखो जी ...

मीरा के प्रभु गहिर गँभीरा सदा रहो जी धीरा |

आधी रात प्रभु दरसन दींन्हेंप्रेमनदी के तीर ||

श्याम मने चाकर राखो जी

श्याम मने चाकर राखो जी |

श्याम मने चाकर राखो जी ||

 
< पिछला   अगला >
© 2017 दिनमान लघु पंचांग